आगरा यूनिवर्सिटी का बीएएमएस कॉपी कांड: छात्र नेता राहुल पाराशर ने बताया कि 2016 से बदल रहा है कापियां, तीन कॉलेजों के नाम भी बताए

आगरा यूनिवर्सिटी का बीएएमएस कॉपी कांड: छात्र नेता राहुल पाराशर ने बताया कि 2016 से बदल रहा है कापियां, तीन कॉलेजों के नाम भी बताए आगरा की डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के बीएएमएस कापी कांड के आरोपी छात्र नेता ने कस्टडी रिमांड में कई खुलासे किए हैं। पूछताछ में उसने बताया कि वो 2016 से कॉपी बदलने का काम कर रहा है। कॉपी लिखवाने के लिए भी उसकी पास एक टीम थी। इसमें कई मेडिकल की पढ़ाई कर चुके लोग शामिल हैं। उसने तीन कॉलेजों के नाम भी बताए हैं।

डॉ. भीमराव आंबेडकर विवि की बीएएमएस और एमबीबीएस की कॉपी बदलने की जांच पुलिस कर रही है। पुलिस ने आरोपी छात्र नेता नेता राहुल पाराशर को 31 घंटे की कस्टडी रिमांड पर लिया था। आरोपी ने पूछताछ में आधा दर्जन से अधिक लोगों के नाम बताए। यहां तक कहा कि वह तो घोटाले की एक कड़ी है। विवि में क्या होता है। किसी से छिपा नहीं है। विवि कर्मचारियों की संपत्ति की जांच होगी तो पता चलेगा कि संपत्ति कैसे बनाई है। बता दें कि राहुल पाराशर ने पुलिस और एसटीएफ को गच्चा देकर कोर्ट में समर्पण किया था। बीएएमएस कापी कांड में पुलिस ने उसे वांछित किया था।

2016 से बदल रहा है कॉपी

एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि राहुल पाराशर ‘कबूल किया कि वो वर्ष 2016 से बीएएमएस और एमबीबीएस की कॉपी बदलने का काम कर रहा है। वो परीक्षा केंद्र से कॉपी बदल देता था। कभी-कभी मूल्यांकन केंद्र पर उत्तर पुस्तिका ले जाने के दौरान बदलता था। इस काम में उसके साथ विवि और एजेंसी के कर्मचारी मिले हुए थे। उसने पुलिस को नाम भी बताए हैं। पुलिस इनका कापी बदलने की घटना में क्या भूमिका है पुलिस पहले इसकी जांच करेगी। आरोपित ने पूछताछ में यह कहा कि विवि में कुछ भी संभव है। नंबर बढ़वाना। फर्जी मार्कशीट । कापी बदलवाना। हर काम के रुपये तय हैं। कौन क्या करता है पुलिस पता कर सकती है।

कॉपी लिखने के लिए बनाया गैंग

राहुल ने पुलिस को बताया कि बीएएमएस और एमबीबीएस की कॉपी लिखवाने के लिए उसने गैंग बना रखी थी। इस टीम में मेडिकल की पढ़ाई कर चुके या पढ़ाई करने वाले लोगों को रखा गया था। जिससे उनको मेडिकल की कॉपी लिखने में दिक्कत न हो। वो कॉपियों को अपने घर, हॉस्टल या किसी और अन्य जगह पर लिखवाता था। एसपी सिटी ने बताया कि राहुल ने तीन कॉलेजों के नाम बताए हैं, जिनके छात्रों की कॉपी बदली जाती थीं।

यह हुई बरामदगी

मुकदमे से संबंधित कापियां, कापियां सिलने वाली सिलाई मशीन, कुछ खाली अंकतालिकाएं, फर्जी अंकतालिकाएं, डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के बारकोड बनाने वाले पेपर, कुछ कॉलेजों की फर्जी मोहरें आदि सामान बरामद हुआ।

यह है पूरा मामला

27 अगस्त को बीएएमएस की कापियां बदलने की जानकारी हुई। एक मुकदमा लिखा गया। टेंपो चालक को जेल भेजा गया। उसके बाद दिल्ली से डॉक्टर अतुल यादव को पकड़ा गया। सॉल्वर पुनीत और दलाल दुर्गेश ठाकुर की गिरफ्तारी हुई। बीएएमएस के 14 छात्रों की हर परीक्षा में हस्तलेख अलग निकले। इस संबंध में एक मुकदमा लिखा गया। इसके बाद एमबीबीएस की दो दर्जन से अधिक छात्रों की कापियों में हस्तलेख अलग मिला। इस संबंध में भी मुकदमा लिखाया गया। अभी तक तीन मुकदमे लिखाए जा चुके हैं। महत्वपूर्ण परीक्षाओं में कापियां बदलने के बहत साक्ष्य पुलिस जुटा चुकी है।

बारिश नहीं रोक पाई कांशीराम के अनुयायियों के कदम: परिनिर्वाण दिवस पर जीआईसी मैदान में जुटी भीड़, कीचड़ में खड़े रहे कार्यकर्ता

बामसेफ और बसपा के संस्थापक कांशीराम के परिनिर्वाण दिवस पर जीआईसी में मैदान में उनका भावपूर्ण स्मरण किया गया। अनुयायी बारिश में भीगते हुए कार्यक्रम में पहुंचे। वक्ताओं को सुनने के लिए कार्यकर्ता बारिश और कीचड़ में खड़े रहे।

73 सालों में पहली बार मनाया जाएगा Supreme Court का स्थापना दिवस

शनिवार यानी आज 4 फरवरी को पहली बार भारत के सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) का स्थापना दिवस मनाया जाएगा।इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सिंगापुर के न्यायाधीश जस्टिस सुंदरेश मेनन को बुलाया गया है।

मशहूर प्लेबैक सिंगर वाणी जयराम का निधन, हाल ही में पद्म भूषण से किया गया था सम्मानित

मशहूर प्लेबैक सिंगर वाणी जयराम का निधन, हाल ही में पद्म भूषण से किया गया था सम्मानित

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular