कुंभ में कोरोना टेस्टिंग की फर्जी नेगेटिव रिपोर्ट पर यात्रा, तीरथ सिंह रावत और त्रिवेंद्र रावत में खींचतान

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुंभ मेले में कोरोना जांच में हुए फर्ज की न्यायिक जांच की मांग की है. उन्होंने कह की जांच इस तरीके से हो की सच सामने आये कोई भी किस तरह से सच को छिपा ना सके

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि करोना जांच का मामला बड़ा मामला है और यहाँ इस बात की गहराई को समझा है जारा है कोई छोटा हो या बड़ा अधिकारी हो दोषियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने झाड़ा पल्ला

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से जब कुम्ब में होरे फर्जीवाड़े के बारे म पूछा गया तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ दिया कि यह मामला मेरे समय का है है पैर में लोगो के लिए पुरे मामले की जांच करवाऊंगा तीरथ सिंह रावत ने कहा किमेरी पार्टी मार्च में आयी है इसलिए मुझ नहीं पता उस समय क्या हुवा था पर में जांच करवाऊंगा

मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि ममम्ला बीजेपी सर्कार का है तू ऐसा न हो की जांच ठीक से ना की जाए त्रिवेंद्र ने कहा कि उन्होंने कई आईएएस और पीसीएस अधिकारियों पर कारवाही की थीफर्जी आधार कार्ड जमा कर टेस्ट किए. इस प्राइवेट लैब द्वारा एक ही फोन नंबर का इस्तेमाल करते हुवे कई व नंबर की एक डिजिट बदलते हुवे कई लोगो का झूटा पंजीकरण किया गया है

हरिद्वार में कुंभ मेले के दौरान निजी लैब ने कोरोना टेस्ट की फर्जी कोविड टेस्ट की रिपोर्ट की जांच अधिक लोगो की जांच करि है दिखने के लिए झूटा डाटा प्रस्तुत किया

मामले का पता तब चला जब प्राइवेट लैब ने पंजाब के एक युवक को कोरोना की रिपोर्ट एसएमएस के द्वारा कोरोना की रिपोर्ट प्राप्त करी जिसके बाद वह काफी डर गया कुरीकी उसके दुवारा रिपोर्ट नहीं करवाई गयी थी युवक द्वारा इस मामले की शिकायत इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) से की गई जिसके बाद आईसीएमआर ने जांच के निर्देश जारी हुवे

Related posts

Leave a Comment