गुजरात CM भूपेंद्र की शपथ: शपथ से 12 घंटे पहले मोदी अहमदाबाद पहुंचे, एयरपोर्ट से राजवभवन तक रोड शो किया

गुजरात CM भूपेंद्र की शपथ: शपथ से 12 घंटे पहले मोदी अहमदाबाद पहुंचे, एयरपोर्ट से राजवभवन तक रोड शो किया 62 साल के भूपेंद्र पटेल सोमवार को दोपहर 2 जे गुजरात के 18वें मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। चुनाव से पहले गुजरात में लगातार सभाएं करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पटेल की शपथ से एक दिन पहले अहमदाबाद पहुंचे। वहां उन्होंने रोड शो किया। देर रात होने के बावजूद लोग मोदी के स्वागत में खड़े नजर आए। मोदी ने भी अपनी कार की रफ्तार धीमी करके आए। मोदी ने भी अपनी कार की रफ्तार धीमी करके लोगों का अभिवादन किया।

भूपेंद्र पटेल का शपथ समारोह दोपहर 2 बजे गांधीनगर सचिवालय के हेलीपैड ग्राउंड में होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आज 16 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जा सकती है। कार्यक्रम में PM मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ 20 राज्यों के CM मौजूद रहेंगे। वहीं, दो हजार से ज्यादा दूसरे नेता और 200 संत भी शपथ ग्रहण का हिस्सा बनेंगे।

गुजरात के 18वें मुख्यमंत्री बनने वाले पटेल पाटीदार समुदाय से इकलौते नेता हैं, जो लगातार दूसरी बार CM बन रहे हैं। उन्हें 15 महीने पहले विजय रुपाणी की जगह गुजरात की जिम्मेदारी दी गई थी।

12 विधायकों के पास शपथ के लिए फोन पहुंचे

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 16 विधायकों का मंत्री बनना तय माना जा रहा है। इनमें 12 विधायकों के फोन जा चुके हैं। इनमें हर्ष संघवी, ऋषिकेश पटेल, कनुभाई देसाई, राघवजी पटेल, मुलुभाई बेरा, पुरुषोत्तम सोलंकी, कुंवरजी बावलिया, भानूबेन बाबरिया, कुबेर डिंडोर, बलवंत सिंह राजपूत, बचु खाबड, जगदीश पांचाल, मुकेश पटेल, भीखूसिंह परमार, प्रफुल्ल पानसेरिया और कुंवरजी हलपति शामिल हैं।

हार्दिक बोले- मैं रहूंगा या नहीं, पार्टी तय करेगी

भूपेंद्र पटेल की कैबिनेट में हार्दिक पटेल को जगह मिलेगी या नहीं, इस पर अभी संशय बना हुआ है। हालांकि खुद पटेल का कहना है कि पार्टी डिसाइड करेगी कि वे कैबिनेट में रहूंगा या नहीं। जो भी जिम्मेदारी मिलेगी, वे उसका निर्वहन करेंगे।

गुजरात में भाजपा का 156 सीटें जीतने का नया रिकॉर्ड गुजरात में भाजपा ने 182 विधानसभा सीटों में से 156 सीटों के साथ जीत का नया रिकॉर्ड बनाया है। कांग्रेस ने 1985 में माधव सिंह सोलंकी की अगुआई में 149 विधानसभा सीटें जीती थीं। वहीं, नरेंद्र मोदी के CM रहते भाजपा ने 2002 के चुनाव में 127 सीटें जीती थीं। इस जीत के साथ भाजपा ने दोनों रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। भाजपा को इस बार 2017 के मुकाबले 58 सीटों का फायदा हुआ है। वहीं, कांग्रेस को सबसे ज्यादा 60 सीटों का नुकसान हुआ है। पार्टी ने पिछली बार 77 सीटें जीती थीं। इस बार उसे 17 सीटें ही मिली हैं। आम आदमी पार्टी ने 5 सीटें जीती हैं। निर्दलीय को तीन और सपा को एक सीट पर जीत मिली है।

गुजरात में पाटीदार कम्युनिटी का दबदबा

राज्य में पाटीदार कम्युनिटी का दबदबा है। 12-14% आबादी के बावजूद पाटीदार 61 सीटों पर प्रभावी है। इनमें 55 सीटें भाजपा जीती है। AAP ने OTP कार्ड खेला था। यानी OBC, ट्राइबल और पाटीदार। सिर्फ ट्राइबल इलाके में ही आप सेंधमारी कर सकी है। यहां कांग्रेस को बाहर कर दिया।

गुजरात चुनाव से जुड़ी ये भी खबरें भी पढ़ें…

गुजरात में BJP की सबसे बड़ी जीत, 86% सीटें जीतीं 33 से 22 जिलों में कांग्रेस का खाता नहीं खुला

गुजरात में भाजपा ने इतिहास रच दिया है। ब्रांड मोदी के असर से भाजपा ने 182 में से 156 सीटें (86%) जीत लीं। यह राज्य के 62 साल के इतिहास में किसी पार्टी की सबसे बड़ी जीत है। भाजपा ने पिछले चुनाव जीती 92 सीटें इस बार भी जीत लीं। पिछले चुनाव में 77 सीटें जीती कांग्रेस 17 सीटों पर सिमट गई। 33 से 22 जिलों में खाता भी नहीं खोल पाई।

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular