जबलपुर पुलिस की गिरफ्त में आया ढोंगी बाबा कृष्णकुमारः कारनामे जानकर रह जाएंगे हैरान, 20 लाख रुपए के नकली नोट के साथ हुआ गिरफ्तार, प्रचार में करता था लाखों रुपए खर्च

जबलपुर पुलिस की गिरफ्त में आया ढोंगी बाबा कृष्णकुमारः कारनामे जानकर रह जाएंगे हैरान, 20 लाख रुपए के नकली नोट के साथ हुआ गिरफ्तार, प्रचार में करता था लाखों रुपए खर्च जबलपुर पुलिस ने एक ऐसे ढोंगी बाबा को गिरफ्तार किया है जो कि पूजा पाठ के नाम पर लोगों के रुपए को 10 गुना तक करने का झांसा दिया करता था। ढोंगी बाबा का नाम कृष्ण कुमार नामदेव है, जिसने की कई लोगों के साथ ठगी करते हुए उन्हें अपना शिकार बनाया और उनके कीमती जेवरात पार किए। पुलिस ने आरोपी के पास से 20 लाख रुपए के नकली नोट के अलावा 70 हजार रुपए के असली नोट, सोने चांदी के जेवरात और एक मोटरसाइकिल भी बरामद की। ढोंगी बाबा इतना शातिर था कि नकली नोट की गड्डीयो के ऊपर असली नोट रखकर लोगो के साथ ठगी किया करता था। बाबा अपने प्रचार प्रसार में भी लाखों रुपए खर्च किया करता था।

जबलपुर एस.पी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि धनवंतरी नगर पुलिस चौकी ने ढोंगी बाबा कृष्ण कुमार नामदेव को अंधमूक बाईपास के पास से गिरफ्तार किया है। बाबा इतना शातिर है कि पूजा पाठ के नाम पर लोगों को आसानी से ठगी का शिकार बना लिया करता था। आरोपी मूलतः खमरिया थाना के ग्राम पिपरिया का रहने वाला था। काफी साल पहले आरोपी के पिता ने अपना मकान बेचकर रांझी इंदिरा नगर में आकर किराए के मकान से रहने लगे थे। शुरुआत में आरोपी कृष्ण कुमार ने सब्जी का ठेला लगाया फिर फल का ठेला भी लगाने लगा। बाद में कुछ दिन अपने बड़े भाई के साथ चाय का ठेला भी लगाया। इसी दौरान ग्वारीघाट निवासी रंजीत नाम के व्यक्ति से इसकी मुलाकात हो गई जो की गड़ा धन निकालने की कला में माहिर था। दोनों ही आरोपियों ने मिलकर कई लोगों के साथ धोखाधड़ी की।

ग्वारीघाट निवासी रंजीत कृष्ण कुमार नामदेव को अपने साथ इलाहाबाद ले गया। यहां पर भी दोनों ने कुछ लोगों के घर में गड़ा धन निकालने का कहकर 4 से 5 हजार रुपए ठगे। दोनों आरोपी गड़ा धन निकालते समय मटकी में मिट्टी के साथ चांदी के 4 से 5 सिक्के रख देते थे और लोगों को धोखा देकर पैसे ले लिया करते थे। इसी दौरान आरोपी कृष्ण कुमार ने इलाहाबाद में रहने वाली एक महिला को भगाकर अपने साथ जबलपुर ले आया था जो कि कुछ साल तक इसके साथ रहने के बाद वर्तमान चित्रकूट में रह रही है।

आरोपी ने सबसे पहले साल 2011 में हनुमानताल में रहने वाली एक महिला को झांसा देकर जमीन में गड़ा धन निकालने के लिए 10 हजार रुपए लिए थे, और उसके घर में पूजा पाठ करने का ढोंग करके एक पीतल का लोटा जमीन से निकाल कर दिखाया था जिसमें असली और नकली ज्वेलरी भी रखी थी। इस दौरान वह हनुमानताल थाना पुलिस की गिरफ्त में आया और पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। जेल से बाहर आने के बाद वर्ष 2017 में आरोपी ने अधारताल में किराए का मकान लिया वहां पर भी काली जी की प्रतिमा रखकर दरबार बनाया और फिर पूजा पाठ करके लोगों की समस्या का निराकरण करने लगा। पूजा पाठ के दौरान भी कृष्ण कुमार पैसे लिया करता था। आरोपी लोगों को बताने लगा कि उसे माता की कृपा से नोट को 4 गुना तक बढ़ाने की शक्ति प्राप्त है, जिसमें पूजा पाठ के लिए उसे कुछ पैसे भी खर्च करने पड़ते हैं। आरोपी कृष्ण कुमार नामदेव ने लोगों को दिखाने के लिए बच्चों के खेलने वाले नकली नोटों का बंडल आधारताल से खरीद लिया आरोपी अपने साथ नए नोटों का असली बंडल भी रखता था। लोगो के सामने वह पूजा पाठ करके नोटों की गड्डी दिखाता और फिर वहीं पैसे खर्च करने के लिए भी देता था।

वर्ष 2018-19 में आरोपी नामदेव ने रांझी में रहने वाले विजय ठाकुर, माधव कौरी, सुनीता बेन और अधारताल में रहने वाली प्रीति के घर जाकर पूजा पाठ किया, हवन किया और उन्हें बाहर करके घरों में नोटों की गड्डी रख दिया। आरोपी इतना शातिर था कि असली नोट दिखाकर बेवकूफ बनाता और फिर लोगो को नकली नोट दे दिया करता था। आरोपी ने लोगों को बेवकूफ बना बनाकर अपनी एक अच्छी खासी गृहस्थी भी बना ली थी। घर पर ऐसो आराम के लिए कलर टी.वी, फ्रिज, वाशिंग मशीन सहित सोने चांदी के जेवरात मोटरसाइकिल भी रखा करता था। इस बीच जब उसे पैसों की तंगी आई तो उसने धीरे-धीरे करके काफी कुछ जेवरात बेच भी दिया था।

जबलपुर के एक लॉज में रोककर आरोपी कृष्ण कुमार नामदेव ने हीरा सिंह ठाकुर, मनोहर सिंह ठाकुर, दिनेश विश्वकर्मा, विजय सिंह ठाकुर को अपने तंत्र मोह जाल में फंसाया और फिर लॉज में ही नोटों की बारिश कर सभी को विश्वास में ले लिया। इसके बाद मनोहर सिंह ठाकुर के घर में 28 लाख रुपए के नकली नोट गिराकर उससे 6 लाख 25 हजार रुपए हड़प लिए। आरोपी अपने स्वयं के प्रचार के लिए 3 लाख रुपए खर्च कर तिलवारा में गणेश जी की स्थापना करवाई जहां प्रतिदिन भंडारा करके लोगों को आकर्षित भी करने लगा। यंहा भी उसने अपने ठगी करने का सिलसिला जारी रखा कई लोगों से पूजा के नाम पर सोने चांदी के जेवरात मोटरसाइकिल और गृहस्थी का सामान लिया। जबलपुर पुलिस ने आरोपी कृष्ण कुमार के पास से सोने का एक हार, एक मंगलसूत्र, एक चैन, एक अंगूठी, एक झुमकी, एक जोड़ी टॉप्स, चांदी के 1 जोड़ी पायल, एक हाफ करधन, एक मोटरसाइकिल, 70000 रुपए नगद, दो चेक बुक, सोने जैसे दिखने वाली 50 मुहर, एक पासबुक और 20 लाख रुपए के नकली नोट बरामद किए हैं।

भूपेंद्र हुड्डा का CM मनोहर लाल पर पलटवार: बोले- मैं खुद काम करवा सकता हूं; खट्टर ने कहा था- कभी काम लेकर नहीं आए

More than 400 attended Vivekananda Kendra’s Young India know Thyself orientation

विवेकानंद केंद्र के Young India Know Thyself ओरिएंटेशन में 400 से अधिक युवाओं ने भाग लिया The sixth season of Young India Know Thyself: A...

विवेकानंद केंद्र दिल्ली शाखा ने मनाया “साधना दिवस” Vivekananda Kendra Delhi Branch Celebrated “Sadha Diwas”

विवेकानंद केंद्र, कन्याकुमारी की दिल्ली शाखा ने पिछले रविवार को माननीय एकनाथ जी रानडे की जयंती को "साधना दिवस" के रूप में मनाया। श्री...

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular