पेपर मिल में आग, कागजों के साथ 2 जिंदा जले: 2 करोड़ का नुकसान; 50 फायर ब्रिगेड भी कम पड़ी; सहारनपुर की घटना

पेपर मिल में आग, कागजों के साथ 2 जिंदा जले: 2 करोड़ का नुकसान; 50 फायर ब्रिगेड भी कम पड़ी; सहारनपुर की घटना सहारनपुर की स्टार पेपर मिल में मंगलवार आधी रात भीषण आग लग गई। हादसे में 2 कर्मचारी जिंदा जल गए। जबकि 3 लापता हो गए। मिल में कागज और गत्तों के कारण आग इतनी तेजी से फैली कि किसी को संभलने का मौका ही नहीं मिला। बताया जा रहा है कि जिन कर्मचारियों की मौत हुई है वह कागज के बंडलों के बीच सोए हुए थे। रात 2 बजे अग्निकांड के बाद प्रबंधन सक्रिय हुआ। 1 घंटे के अंदर यहां दमकल गाड़ियां पहुंच गईं। सुबह 8 बजे तक दावा किया गया कि आग पर काबू पा लिया गया। मगर कागज तैयार करने के रॉ मैटेरियल में बार-बार आग भड़क रही थी। आग की लपटे इतनी ऊंची थीं कि 2 किमी. दूर तक देखी गईं। करीब 5 घंटे बाद लापता कर्मचारी परिसर के अंदर ही मिले। इस अग्निकांड में करीब 2 करोड़ का नुकसान हुआ है।

सबसे पहले आपको हादसे के बारे में बताते हैं…

कागजों के बंडल के बीच सोए, फिर आग से घिर गए

यूपी की इस बड़ी पेपर मिल में 24 घंटे वर्कर काम करते हैं। बताया जा रहा है कि अग्निकांड के वक्त मिल के अंदर 200 से ज्यादा लोग थे। आग मिल के उस हिस्से में लगी, जहां कागज का फिनिश मैटेरियल रखा जाता था। दरअसल, आग लगने के बाद कर्मचारियों के बीच भगदड़ जैसी स्थिति बन गई थी। सुबह करीब 9 बजे दो कर्मचारियों की लाश कागज के जले हुए बंडलों के बीच मिली है।

जिस अवस्था में लाशें मिली हैं। उसके बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि वो काम के दौरान इन कागज के बंडलों के बीच सो गए होंगे। आग लगने के बाद अंदर धुआं भरा होगा। उन्हें भागने की जगह नहीं मिली। इन कर्मचारियों में एक निजी कंपनी के अनुबंध पर मिल में काम कर रहा था। जिसकी पहचान लाल बहादुर मंडल के रूप में हुई है। वो स्टार पेपर मिल कॉलोनी में रहते थे। एक अन्य मरने वाले की पहचान अभी नहीं हुई है।

अब आपको स्टार पेपर मिल और इससे पहले हुए हादसों के बारे में बताते हैं….

200 बीघा में है ये पेपर मिल ये पेपर मिल सदर बाजार इलाके में हैं। एरिया करीब 200 बीघा से ज्यादा का है। मिल प्रबंधन ने बाउंड्रीवॉल के अंदर ही अस्पताल, कर्मचारियों की कॉलोनी जैसी सुविधाएं दी हुईं हैं। इस मिल के अंदर कोई भी शख्स बिना अनुमति नहीं जाने दिया जाता है। परिसर के अंदर ही अस्पताल में मरने वाले कर्मचारी और घायलों को रखा गया है। कोई भी बाहर नहीं लाया गया है। साथ ही, उनके परिवार के लोग भी पेपर मिल कॉलोनी में रहते थे। वो भी परिसर में अंदर हैं।

आग के बाद परिसर सील, आवाजाही रोकी गई

आगे कैसे लगी? इस सवाल का जवाब अभी नहीं मिला है। शार्ट सक्रिट से आग भड़की या किसी मजदूर की गलती से, इसकी जांच होनी है। मिल के गेट को बंद करवा दिया गया। सीएफओ तेजवीर मौके पर अधिकारियों के साथ चाय पीते आए नजर आए व्यवस्था की पोल खुलते देख मिल प्रबंधन के आपर मिल सुरक्षाकर्मियों ने मीडियाकर्मियों क से रोक दिया।

हादसे के कुछ घंटों के अंदर सीएफओ ट्रांसफर

इस हादसे के कुछ घंटों के बाद शासन से यूपी के सीएफओ की ट्रांसफर लिस्ट जारी की गई। इसमें सहारनपुर के सीएफओ तेजवीर सिंह का भी ट्रांसफर किया गया। वो करीब 10 साल से सहारनपुर के सीएफओ पद पर जमे हुए थे।

73 सालों में पहली बार मनाया जाएगा Supreme Court का स्थापना दिवस

शनिवार यानी आज 4 फरवरी को पहली बार भारत के सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) का स्थापना दिवस मनाया जाएगा।इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सिंगापुर के न्यायाधीश जस्टिस सुंदरेश मेनन को बुलाया गया है।

मशहूर प्लेबैक सिंगर वाणी जयराम का निधन, हाल ही में पद्म भूषण से किया गया था सम्मानित

मशहूर प्लेबैक सिंगर वाणी जयराम का निधन, हाल ही में पद्म भूषण से किया गया था सम्मानित

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular