बाबर – रिजवान ने 105 रन जोड़ दिए : शाहीन का पहले ओवर से ही जलवा, जानिए पाकिस्तान की जीत के 5 फैक्टर

बाबर – रिजवान ने 105 रन जोड़ दिए : शाहीन का पहले ओवर से ही जलवा, जानिए पाकिस्तान की जीत के 5 फैक्टर पाकिस्तान टीम टी-20 वर्ल्ड कप 2022 के फाइनल में पहुंच गई है। बुधवार को उसने पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को एकतरफा मुकाबले में 7 विकेट से हरा दिया। टॉस जीतकर न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग का फैसला किया। शाहीन शाह अफरीदी ने उनका टॉप ऑर्डर बिखेर दिया। न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान को 153 रन का टारगेट दिया।

जवाब में पाकिस्तान की सलामी जोड़ी बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने जबरदस्त शुरुआत की। दोनों हाफ सेंचुरी लगाईं और पाकिस्तान ने आसानी से मैच जीत लिया। गेंदबाजी, बल्लेबाजी और फील्डिंग तक जोरदार रही। पाकिस्तान 13 साल बाद टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची। मैच में 5 फैक्टर्स ऐसे रहे, जिसने फाइनल मुकाबला पाकिस्तान के नाम कर दिया। आइए इन 5 फैक्टर्स पर नजर डालते है।

5. शाहीन की सटीक गेंदबाजी टीम के स्टार पेसर

शाहीन अफरीदी ने पाकिस्तान को अहम मैच में बिल्कुल शुरुआत में ही सफलता दिलाई। शाहीन अफरीदी ने 2 विकेट लिए। उन्होंने न्यूजीलैंड के आक्रामक ओपनर फिन एलन को पहले ही ओवर में चलता किया। इसके बाद जब कप्तान केन विलियमसन क्रीज पर टिके और बड़े शॉट्स खेलने लगे, उसी समय 17वें ओवर में शाहीन ने विलियमसन का विकेट लिया। दोनों ही विकेट अहम मौकों पर रहे। सबसे अहम बात यह कि शाहीन ने 4 ओवर में सिर्फ 24 रन दिए । उनकी इकोनॉमी रेट 6 रही ।

3 . बाबर – रिजवान की धमाकेदार शुरुआत

अब तक इस टूर्नामेंट में बाबर – रिजवान की ओपनिंग जोड़ी लगातार फेल हो रही थी, लेकिन सेमीफाइनल दोनों की जोड़ी एक बार फिर लय में दिखी। बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान को शानदार शुरुआत दी। पहली बार पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाजों के बीच इस वर्ल्ड कप में पावर प्ले के दौरान 50 रन की पार्टनरशिप देखी गई। दोनों के बीच ओपनिंग विकेट के लिए 105 रन की साझेदारी हुई।

2. पुरानी गेंद से बेहतरीन गेंदबाजी

सिडनी के ग्राउंड पर पाकिस्तान के गेंदबाजों ने पुरानी गेंद का भरपूर इस्तेमाल किया। टीम पूरे मैच में लय में नजर आई। विकेट लेने के बाद सभी गेंदबाजों ने पुरानी गेंद से अच्छा प्रदर्शन दिखाया । एक भी गेंदबाज ने 8.25 से ज्यादा की इकोनॉमी नहीं दी।

1. न्यूजीलैंड का नॉकआउट मुकाबले में चोक करना

न्यूजीलैंड टीम अहम मौकों पर अकसर गलती कर जाती है। इस बार भी यही हुआ। अगर वनडे और टी-20 के वर्ल्ड कप को मिलाया जाए तो कुल 20 वर्ल्ड कप हुए है। इसमें से न्यूजीलैंड ने 12 बार सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया है, लेकिन न्यूजीलैंड आज तक एक भी वर्ल्ड कप नहीं जीत पाई। इसकी अहम वजह यही है कि साउथ अफ्रीका की तरह न्यूजीलैंड भी नॉकआउट मुकाबले में चोक कर जाती है। दूसरे शब्दों में कहें तो यह टीम जीतते हुए मैच हार जाती है। इससे पहले न्यूजीलैंड ने 2015, 2019 और 2021 वर्ल्ड कप का फाइनल खेला और एक में भी जीत नहीं सकी।

13 साल बाद वर्ल्ड कप फाइनल में पाकिस्तान: न्यूजीलैंड को 7 विकेट से हराया, बाबर – रिजवान ने 105 रन की ओपनिंग साझेदारी की

पाकिस्तान टी-20 वर्ल्ड कप 2022 के फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में बुधवार को खेले गए सेमीफाइनल में 153 का टारगेट चेज कर रही पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड को 7 विकेट से हरा दिया । PAK की टीम ने 19.1 ओवर में 3 विकेट खोकर मैच जीत लिया।

पाकिस्तान 13 साल बाद टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा है। पाकिस्तानी टीम 2007 में खेले गए पहले टी-20 वर्ल्ड कप में फाइनल पहुंची थी, पर जीती नहीं । आखिरी बार वह 2009 में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची थी और खिताब भी जीता था। आज खेले गए सेमीफाइनल में ओपनर बाबर आजम (53 रन) और मोहम्मद रिजवान (57 रन) ने ताबड़तोड़ बैटिंग की। दोनों ने 105 रन की ओपनिंग साझेदारी की। पूरे टूर्नामेंट में दोनों की ओपनिंग पर सवाल उठ रहे थे। पाकिस्तान की ओर से शाहीन शाह अफरीदी ने शानदार गेंदबाजी की। उन्होंने 4 ओवर में सिर्फ 24 रन देकर 2 विकेट लिए ।

रिजवान की शानदार पारी के लिए उनको प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

न्यूजीलैंड की सबसे बड़ी गलती, बाबर का कैच छोड़ा

न्यूजीलैंड को पहले ओवर में की गई गलती भारी पड़ी। जब बोल्ट की दूसरी गेंद पर न्यूजीलैंड के विकेट कीपर डेवोन कॉन्वे ने बाबर का कैच छोड़ दिया। तब बाबर आजम का खाता भी नहीं खुला था।

More than 400 attended Vivekananda Kendra’s Young India know Thyself orientation

विवेकानंद केंद्र के Young India Know Thyself ओरिएंटेशन में 400 से अधिक युवाओं ने भाग लिया The sixth season of Young India Know Thyself: A...

विवेकानंद केंद्र दिल्ली शाखा ने मनाया “साधना दिवस” Vivekananda Kendra Delhi Branch Celebrated “Sadha Diwas”

विवेकानंद केंद्र, कन्याकुमारी की दिल्ली शाखा ने पिछले रविवार को माननीय एकनाथ जी रानडे की जयंती को "साधना दिवस" के रूप में मनाया। श्री...

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular