सिरदर्द से होने पर अपने डेली रूटीन में शामिल करें ये व्यायाम, मिलेगा बेहद आराम 1

सिरदर्द से आंखों का कमजोर होना, नींद पूरी न होना, लगातार थकान, तनाव या बदहजमी, कई समस्याएं अपने साथ सिरदर्द लेकर आती हैं। सिरदर्द इतनी आम, मगर जटिल समस्या है कि सुलझ न रहे सवाल को भी हम कभी-कभी सिर दर्द कह देते हैं। सिर दर्द जब आता है, तो सारा रुटीन और प्रोडक्टिविटी डिस्टर्ब हो जाती है। इसलिए जरूरी है कि इसका तत्काल उपचार किया जाए। पर हर उपचार दवा के रास्ते ही नहीं आता। कभी-कभी आप इसके लिए योग भी ट्राई कर सकते हैं।

योग करने से होगा सिरदर्द का समाधान :-

कभी गैस के कारण, तो कभी लगातार काम करने से होने वाली थकान, सिर दर्द का कारण कोई भी हो सकता है। मगर दवा से पहले एक बार योगाभ्यास करके देखें।सिरदर्द से राहत पाने के लिए लोग अक्सर दवाओं का सहारा लेते हैं, लेकिन बार-बार सिरदर्द से राहत पाने के लिए दवाओं का सेवन सेहत को बहुत ही नुकसान भी पहुंचा सकता है।

ऐसे में सिरदर्द और माइग्रेन जैसे दर्द से राहत पाने के लिए योगा, व्यायाम, ध्यान करने से आप सिर दर्द से आराम पा सकते हैं। आइए जानते हैं उन योगासनों के बारे में जो आपको सिर दर्द (Yoga for headache) से राहत दिला सकते हैं।

Yoga for Headache : आजकल की व्यस्त जीवनशैली की वजह से लोगों के बीच बढ़ता तनाव एक आम समस्या बनकर रह गया है। जिसकी वजह से कम उम्र में ही लोगों को सिरदर्द जैसी शिकायतें हो रही हैं। सिरदर्द से राहत पाने के लिए लोग अक्सर दवाओं का सहारा लेते हैं, लेकिन बार-बार सिरदर्द से राहत पाने के लिए दवाओं का सेवन सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। ऐसे में सिरदर्द और माइग्रेन जैसे दर्द से राहत पाने के लिए आप इन योगासनों की मदद ले सकते हैं। आइए विभिन्न प्रकार के योगासनों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

(1) बालासन :-

बालासन को शिशुआसन या चाइल्ड पोज (Child Pose) भी कहा जाता है। अगर आप रोजाना इस आसन का अभ्यास करते हैं तो आपका तंत्रिका तंत्र रिलैक्स रहता है और सिरदर्द की समस्या प्रभावी ढंग से कम होती है।इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले मैट पर घुटने मोड़कर बैठ जाएं, जिस तरह आप वज्रासन में बैठती हैं। इसके बाद आप अपने दोनों हाथों को उपर की ओर उठाएं।

अब आप दोनों हाथों को धीरे-धीरे आगे की ओर लाते हुए जमीन की तरफ झुकें। आपको इतना झुकना है कि आपका माथा जमीन को टच करे और आपके हाथ आगे की तरफ हों। कुछ क्षण इसी अवस्था में रूकें। इसके बाद आप सामान्य अवस्था में लौट आएं। आप अपनी सुविधानुसार इस आसन का अभ्यास कर सकते हैं।

लेकिन इस आसन का अभ्यास करते हुए अगर आपको कमर में दर्द महसूस हो रहा हो या फिर आपका ऑपरेशन हुआ है तो इस आसन का अभ्यास कतई ना करें।

(2) सेतुबंधासन :-

यूं तो इस आसन के अभ्यास से महिलाओं को पाचन तंत्र से लेकर मासिक धर्म की समस्याओं तक में राहत मिलती है, लेकिन इस आसन को सिरदर्द के लिए भी बेहद प्रभावी माना गया है। इस आसन को करने से दिमाग को शांति मिलती है।

Watch video –

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर एक मैट बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं और घुटनों को मोड़ लें। ध्यान रहे, घुटने और पैर एक सीध में रहें और दोनों के बीच हल्का सा गैप रहे।

अब सांस लेते हुए, धीरे से अपनी पीठ के निचले, मध्य और फिर सबसे ऊपरी हिस्से को जमीन से उठाएं। ऐसा करते समय सिर्फ अपने शरीर को उठाएं लेकिन दोनों हाथ मैट पर ही रखें। अब ठुड्डी को हिलाए बिना छाती को ठुड्डी से लगाएं। इस दौरान शरीर के निचले हिस्से को स्थिर रखें। थोड़ी देर इस अवस्था में रूकें और फिर सांस छोड़ते हुए सामान्य स्थिति में लौट आएं।

(3) प्राणायाम :-

सिरदर्द के पीछे की एक मुख्य वजह तनाव होता है। ऐसे में प्राणायाम का अभ्यास करना आपके लिए कई तरह से फायदेमंद होता है। आपको कई तरह के प्राणायाम जैसे ओम् चैटिंग, कपालभांति प्राणायाम, अनुलोम-विलोम प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम आदि का अभ्यास अवश्य करना चाहिए।

Watch video –

यह आपके शरीर को भीतर से रिलैक्स करते हैं, जिससे आपको तनाव कम होता है और फिर सिरदर्द की शिकायत नहीं होती है।

(4) पश्चिमोत्तानासन :-

पश्चिमोत्तानासन योगासन महिलाओं के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। इसके नियमित अभ्यास से ना केवल महिलाओं में सिरदर्द की समस्या ठीक होती है, बल्कि यह उनके मातृत्व में भी लाभदायक है।इस आसन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले दोनों पैरों को आगे की ओर फैलाकर मैट पर बैठ जाएं। ऐसा करते समय आपके पैर या घुटने मुड़े हुए नहीं होने चाहिए।

Watch video –

अब आप अपने दोनों हाथों की मदद से पैरों के अंगूठों को पकड़ने का प्रयास करें। अंगूठों को पकड़ते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपकी छाती आपके घुटनों को छू रही हो और आपका सिर नीचे की ओर झुका हुआ हो। आप यथासंभव इस अवस्था में रूकें और फिर सांस छोड़ते हुए पहले की मुद्रा में लौट आएं।

(5) शवासन :-

शवासन करने से आपका पूरा शरीर पूरी तरह से रिलैक्स हो पाता है। यह पोज आपके माइग्रेन के दर्द को कम करने में मदद करता है। साथ ही इस योगा से आपके दिमाग में ऑक्सीजन बढ़ती है।इस योगा पोज को करने के लिए सबसे पहले अपनी पीठ के सहारे लेट जाएं। अब अपने पैरों को सीधा करें और अपनी बाहों को अपनी और करते हुए नीचे करें। अधोमुख श्वानासन ( Downward facing dog Pose)अधो मुख श्वानासन ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाकर सिरदर्द से राहत दिलाता है।

यह आपकी बॉडी को स्ट्रेच करता है और आपके माइंड को क्लीयर करता है। साथ ही आपकी हड्डियों को मजबूत बनाता है। अपनी आंखें बन्द करें और अपने शरीर की सभी मांसपेशियों को आराम दें।इस पोज को कम से कम दो से पांच मिनट तक जरूर करें और गहरी सांस लें।ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

योग के बारे में क्या है विशेषज्ञों की राय :-

नेशनल हेल्थ इंटरव्यू सर्वे की 2016 की रिपोर्ट के अनुसार योग का नियमित अभ्यास करने वाले लोग मानते हैं कि योग करने से क्या क्या फायदे हैं।

1. स्ट्रेस लेवल कम करने में कारगर है।

2. योग का अभ्यास तनाव कम कर मानसिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाए रखता है।

3. योग के माध्यम से न केवल तनाव कम होता है, बल्कि किसी भी तरह की एडिक्शन छोड़ने में मोटिवेशन भी मिलती है।

4. यह इम्युनिटी इंप्रूव करने में बेहतरीन है।

5. हेल्दी आदतें जैसे स्वस्थ्य खानपान और व्यायाम के लिए भी योग मोटिवेशन प्रदान करता है।

Watch video:-

https://youtu.be/1Ky5RDvNQkY

इसे भी पढ़ें।

Heart Health : दिल की सेहत को बूस्ट करते हैं ये 5 सुपरफ़ूड , डाइट में जरूर करे शमिल

Health Tips : हर वक्त भुख लगने से रहते हैं परेशान ? ऐसे करे इसे कंट्रोले

Walnut Health Benifit : अखरोट है स्वास्थ्य के लिए लभदायक ? जाने इसके बारे में सब कुछ

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।
Khushboo Guptahttps://untoldtruth.in/
Hii I'm Khushboo Gupta and I'm from UP ,I'm Article writer and write articles on new technology, news, Business, Economy etc. It is amazing for me to share my knowledge through my content to help curious minds.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular