हरियाणा में HTET रिजल्ट में 2 दिन की देरी: फिर होगा परीक्षार्थियों का बायोमेट्रिक वैरिफिकेशन; आज से शुरूआत, फोटो ID साथ ले जानी होगी

हरियाणा में HTET रिजल्ट में 2 दिन की देरी: फिर होगा परीक्षार्थियों का बायोमेट्रिक वैरिफिकेशन; आज से शुरूआत, फोटो ID साथ ले जानी होगी बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन हरियाणा (BSEH) ने हरियाणा टीचर एलिजबिलिटी टेस्ट (HTET) 2022 को लेकर बड़ा फैसला किया है। अब HTET रिजल्ट जारी होने से पहले परीक्षार्थियों को बायोमेट्रिक टेस्ट से गुजरना होगा। इसके लिए बोर्ड के द्वारा लिस्ट जारी कर दी गई है। IRIS बायोमेट्रिक टेस्ट की शुरुआत 16 दिसंबर से राज्यभर में होगी।

वेबसाइट पर अपलोड हुई लिस्ट

बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन हरियाणा ने वैरिफिकेशन केंद्रों की सूची आधिकारिक वेबसाइट BSEH.ORG.IN पर जारी की है। यह घोषणा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. वीपी यादव और HTET एग्जाम जो लेवल-1 (PRT), लेवल-2 (TGT) और लेवल -3 (PGT) के लिए 4 और 5 दिसंबर 2022 को आयोजित की गई थी।

एग्जाम में आई थी बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन दिक्कत

हरियाणा शिक्षक पात्रता परीक्षा- 2022 HTET में एग्जाम के दौरान बायोमेट्रिक और आई स्कैनर की गति धीमी गति के कारण काफी परेशानी हुई। इस कारण से कई परीक्षा केंद्रों पर केवल अंगूठे से ही हाजिरी लगाई गई थी। कई सेंटरों में बायोमेट्रिक मशीन में परेशानी आने के कारण परीक्षा के दौरान और शाम 5 बजे परीक्षा खत्म होने के बाद उनकी अटेंडेंस ली गई।

परीक्षा के दौरान केंद्र के अंदर मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, टेबलेट, इयरफोन, हिड्डुन कैमरे, पेजर जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के साथ कोई भी ज्वैलरी, पेन, पेंसिल, पर्स, बेल्ट, पानी की बोतल, किताब आदि सब के ले जाने पर संपूर्ण रूप से पाबंदी लगाई थी। इसके साथ ही परीक्षा केंद्रों के नजदीक सभी कोचिंग सेंटर, किताबों की दुकानें, स्टेशनरी शॉप और फोटो स्टेट की दुकानें तक बंद रहीं।

बेअदबी गोलीकांड की जांच को मांगा समय: मंत्र सरारी ने कहा- 2 महीने का वक्त दें, मोर्चा बोला- 7 जनवरी तक इंसाफ मिले

पंजाब के बहबल कलां बेअदबी गोलीकांड मामले में इंसाफ मोर्चा ने संघर्ष तेज कर दिया है। मोर्चे में शामिल सिखों ने अमृतसर-बठिंडा नेशनल हाईवे एक ओर से बंद किया हुआ है। 15 दिसंबर की देर शाम मोर्चे द्वारा हाईवे को दोनों ओर से बंद कर दिया गया, लेकिन कैबिनेट मंत्री फौजा सिंह सरारी द्वारा शहीदी जोड़ मेले के लिए रास्ता खोलने की अपील पर एक ओर का रास्ता ही खोला गया है।

हालात काबू में रखने के मकसद से IG प्रदीप कुमार ने भी मौके पर पहुंचकर मोर्चे के पदाधिकारियों से बात की। इंसाफ मोर्चे द्वारा नेशनल हाईवे को दोनों ओर से बंद करने पर कैबिनेट मंत्री फौजा सिंह सरारी मौके पर पहुंचे।

कैबिनेट मंत्री ने मांगा 2 महीने का समय उन्होंने मोर्चे के पदाधिकारी सिखों से बातचीत की।

मंत्री ने उनसे बेअदबी गोलीकांड मामले की जांच पूरी करने के लिए 2 महीने का समय मांगा, लेकिन और समय देने के लिए सिख संगत द्वारा साफ इनकार कर दिया गया। इंसाफ मोर्चे द्वारा स्पष्ट तौर पर कहा गया कि यदि सरकार 7 जनवरी तक इंसाफ नहीं दे सकी तो संघर्ष अधिक तेज कर दिया जाएगा।

शहीदी जोड़ मेले को रास्ता खोला फतेहगढ़ साहिब

में हर साल शहीदी जोड़ मेला आयोजित किया जाता है। इसी कारण मंत्री फौजा सिंह सरारी द्वारा रास्ता खोलने की अपील की गई। इसके बाद मोर्चे द्वारा एक ओर का रास्ता तो खोल दिया गया, लेकिन सभी दूसरी ओर के रास्ते पर धरनारत हैं। सिख संगत ने 7 जनवरी तक सड़क एक ओर से बंद रखने और उसके बाद सड़क को दोनों ओर से बंद कर दिए जाने को चेताया है।

सिख इतिहास में दिसंबर महीना महत्वपूर्ण इंसाफ मोर्चे के एक पदाधिकारी ने कहा कि मामले में संगत के फैसले के अनुसार ही कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सिख इतिहास में दिसंबर का महीना काफी महत्वपूर्ण है। शहीद जोड़ मेले में संगत जाती है और इसी कारण एक ओर की सड़क खोली गई है। वहीं इंसाफ मोर्चे के धरने बारे IG प्रदीप कुमार ने सभी चीजें ऑन ट्रैक होनी बताई। उन्होंने कहा कि हर पहलू पर विचार और बातचीत का दौर जारी है।

सरकार की वादा खिलाफी से रोष व्याप्त मोर्चा

बेअदबी गोलीकांड मामले में इंसाफ मोर्चा सरकार की वादा खिलाफी के चलते रोष व्याप्त है। सरकार द्वारा समय समय पर दोषियों को सजा दिए जाने की बात कही जाती रही है, लेकिन अब तक इंसाफ नहीं मिलने के चलते सिख संगत में रोष है। मोर्चे के पदाधिकारियों द्वारा सरकार के कार्रवाई नहीं करने पर संघर्ष तेज करने की चेतावनी दी गई है।

माइक पोम्पिओ का दावा‌ : क्या चीन के कारण QUAD में शामिल हुआ था भारत 2023

माइक पोम्पिओ ने अपनी किताब में बताया है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का प्रशासन किस तरह QUAD में भारत को शामिल करने में कामयाब रहा।

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular