2024 तक ये 5 मेगा प्रोजेक्ट्स अयोध्या को बना देंगे हाईटेक: 17 हजार करोड़ के काम 45% कंप्लीट, 2023 में राम मंदिर की पहली मंजिल तैयार हो जाएगी

2024 तक ये 5 मेगा प्रोजेक्ट्स अयोध्या को बना देंगे हाईटेक: 17 हजार करोड़ के काम 45% कंप्लीट, 2023 में राम मंदिर की पहली मंजिल तैयार हो जाएगी दिसंबर, 2023 में राम मंदिर की पहली मंजिल तैयार हो जाएगी। मंदिर निर्माण के साथ ही अयोध्या आने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। लोगों की यात्रा सुखद बनाने के लिए सरकार अयोध्या को वर्ल्ड क्लास स्मार्ट सिटी बनाने का काम कर रही है। विजन डॉक्युमेंट तैयार करने के बाद यहां 20 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट्स पर काम शुरू हो गया है।

राम मंदिर के अलावा अयोध्या में 5 ऐसे मेगा प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है, जो अयोध्या की तस्वीर बदल देंगे। यह जानने दैनिक भास्कर की टीम ग्राउंड पर पहुंची। अयोध्या डिवीजन के कमिश्नर नवदीप रिनवा से बात की और उन 5 मेगा प्रोजेक्ट्स का काम देखा।

• आइए, आपको बारी-बारी इन प्रोजेक्ट्स की ओर ले चलते हैं…

1. ब्रह्मस्थान से दिखेगी राम मंदिर की ध्वजा, 1425 एकड़ की टाउनशिप

अयोध्या में 1425 एकड़ की नव्य अयोध्या को वैदिक पद्धति से बनाया जा रहा है। इसमें 150 से 300 स्क्वायर मीटर तक के 10 हजार रेसिडेंशियल प्लाट होंगे। 30 राज्यों के अतिथि गृह बनाए जा रहे हैं। 80 से ज्यादा इंटरनेशनल भवन भी बनाए जा रहे हैं जिन पर उन देशों का भी अधिकार होगा। यहां होटल, धर्मशाला, मठ, स्कूल, कॉलेज, अस्पताल भी होंगे।

टाउनशिप से श्रीराम मंदिर 6 किमी, रेलवे स्टेशन से 3 किमी और हवाईअड्डे से 8 किमी की दूरी होगी। यहां बनने वाले होटल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 40 हजार लोगों के रुकने की व्यवस्था होगी। किसानों से 4 गुना ज्यादा दाम पर जमीन खरीदने का काम पूरा हो चुका है। करीब 10 हजार करोड़ की लागत से दिसंबर 2024 के पहले इसका निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

2. मंदिर तक पहुंचने के लिए बन रहे 4 विशेष पथ

• जन्मभूमि पथ : 566 मीटर लंबी ये सड़क आपको सुग्रीव किला से श्रीराम जन्मभूमि तक लेकर जाएगी। इसका काम अगस्त 2022 से शुरू हो चुका है। दिसंबर, 2022 तक काम कंप्लीट कर लिया जाएगा। इसकी कुल लागत 39 करोड़ 43 लाख रुपए है।

• राम पथ: 13 किमी लंबी ये सड़क आपको सहादत गंज से राम की पैड़ी तक लेकर जाएगी। इसे 11 अगस्त 2022 को स्वीकृति मिली। 31 अक्टूबर, 2022 को काम शुरू हो जाएगा। 31 मार्च, 2024 तक निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। इसकी कुल लागत 797 करोड़ 69 लाख रुपए है।

• भक्ति पथ: 782 मीटर लंबी ये सड़क आपको श्रृंगार हा से श्रीराम जन्मभूमि तक लेकर जाएगी। 10 अक्टूबर, 2022 से काम की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। दिसंबर, 2023 तक निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। इसकी कुल लागत 62 करोड़ 79 लाख रुपए है।

• धर्म पथ : 2 किमी लंबी ये सड़क आपको राष्ट्रीय राजमार्ग से नए घाट यानी राम की पैड़ी तक लेकर जाएगी। यह सड़क CM योगी के प्राथमिकता वाले कामों में से एक है। 31 अक्टूबर, 2022 को इसकी डिटेल्ड प्रोग्राम रिपोर्ट अयोध्या डेवलपमेंट अथॉरिटी में उपलब्ध करा दी जाएगी।

3. राम मंदिर की तर्ज पर तैयार हुआ रेलवे स्टेशन

अयोध्या में एक भव्य और आधुनिक रेलवे स्टेशन का निर्माण पूरा होने वाला है। ये राम मंदिर की तर्ज पर बन रहा है। इस 3 किमी लंबे स्टेशन की लागत 350 करोड़ रुपए है। पहले यहां 3 प्लेटफॉर्म थे, अब 6 कर दिए गए हैं। रेलवे स्टेशन के ऊपर कोनकोर्स बनाया गया है, जहां बेस्ट पैसेंजर एमेनिटीज तैयार हैं। 85% काम पूरा हो चुका है। जनवरी, 2023 की शुरुआत में यात्रियों के लिए खोल दिया जाएगा।

राज्य सरकार ने रेलवे स्टेशन के लिए 93 हजार 510 वर्ग मीटर जमीन उपलब्ध कराई थी। रेलवे प्लेटफॉर्म्स के साथ इस जमीन पर पार्किंग, कर्मचारियों के लिए आवास, रेलवे पुलिस के लिए कार्यालय, रोड और ड्रेनेज व्यवस्था समेत कई काम किए जाएंगे। रेलवे लाइन से जुड़े बाकी काम 2023 के अंत तक पूरे कर लिए जाएंगे।

4. श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट में लग रहे राम मंदिर वाले पत्थर

एयरपोर्ट का नाम श्रीराम एयरपोर्ट होगा। इसे भी राम मंदिर की तर्ज पर बनाया जा रहा है। एयरपोर्ट में राम मंदिर वाले पत्थर का ही इस्तेमाल किया गया है। दिसंबर, 2023 तक 331 एकड़ जमीन पर एयरपोर्ट के पहले फेज का काम पूरा हो जाएगा। इसमें रनवे और टर्मिनल बिल्डिंग तैयार होना है। डोमेस्टिक फ्लाइट्स लैंड करने लगेंगी। सेकंड और थर्ड फेज का काम 821 एकड़ जमीन पर दिसंबर, 2024 तक पूरा हो जाएगा। यहां इंटरनेशनल फ्लाइट्स भी उतरने लगेंगी।

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular