भारत कर रहा है 2023 की हॉकी विश्व कप की मेजबानी

• स्विटजरलैंड में हुई (FIH, International Hockey Federation) की बैठक में फैसला हुआ

• नीदरलैंड्स और स्पेन करेंगे महिला हॉकी विश्वकप की सह-मेजबानी

खेल डेस्क : पिछले साल हॉकी विश्वकप के सफल आयोजन के बाद 2023 में होने वाले हॉकी विश्वकप की मेजबानी भी भारत को सौंप दी गई है। इस बात की घोषणा शुक्रवार को स्विटजरलैंड के लॉसाने शहर में हुई। एफआईएच (इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन) एक्जिक्यूटिव बोर्ड की बैठक के बाद की गई। भारत सहित तीन देशों ने 2022-23 मेजबानी के लिये अपनी दावेदारी पेश की थी। पुरुष हॉकी विश्वकप 2023 में 13 जनवरी से 29 जनवरी के बीच खेला जाएगा।

यह हॉकी विश्व कप सबसे पहले 1971 में खेला गया था। 1971 के बाद से ये चौथा मौका होगा जब भारत हॉकी विश्वकप की मेजबानी कर रहा है। भारत ने 1982 , में पहली बार 2010 में दूसरी बार तथा 2018 में तीसरी बार और 2023 में चौथी बार इस हॉकी विश्व कप की मेजबानी कर रहा है। बैठक में इस बारे में भी फैसला हुआ कि 2022 में होने वाले एफआईएच महिला हॉकी विश्वकप की सह-मेजबानी स्पेन और नीदरलैंड्स कर चुकी हैं।

महिला विश्वकप 1 से 17 जुलाई 2022 के बीच हुई थी। टूर्नामेंट के दौरान मैच किन शहरों में खेले जाएंगे इस बारे में मेजबान देशों द्वारा घोषणा की जाएगी।

2023 में भारत करेगा चौथी बार में मेजवानी :-

भारत चौथी बार इस टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा। इससे पहले उसने 1982 महाराष्ट्र (मुंबई), 2010 में नई दिल्ली और 2018 में भुवनेश्वर में टूर्नामेंट की मेजबानी भारत ने की थी। खास बात यह है कि साल 2023 में भारत की आजादी को 75 साल पूरे हो जाएंगे, ऐसे में उसके लिए हॉकी विश्वकप की मेजबानी और भी खास होने वाले हैं। भारत ने ये खिताब आखिरी बार 1975 में गोल्ड मेडल जीता था।

1973 में सिल्वर मेडल तथा 1971 में ब्रांच मेडल भारत ने जीता था। भारत के अलावा हॉलैंड ने 3 बार पुरूष हॉकी विश्वकप की मेजबानी की है। भारत अभी तक सिर्फ एक ही बार विश्व कप चैम्पियन बना है। 1975 में खेले गए टूर्नामेंट के फाइनल में उसने पाकिस्तान को हराकर ये खिताब जीता था। इससे पहले 1973 में वो उपविजेता अर्थात सिल्वर मेडल प्राप्त किया था भारत ने।

FIH (International hockey federation) :-

इसकी स्थापना 7 जनवरी 1924 पेरिस, फ्रांस में हुई थी।वह इस पद पर नरिंदर ध्रुव बत्रा के इस्तीफे के बाद एफआईएच के कार्यकारी अध्यक्ष बने सेफ अहमद का स्थान लेंगे। यह हॉकी विश्वकप इस बार 2023 में 15 वां संस्करण है तथा 16 टीमें इस बार भाग लेंगे। यह मैच 17 दिन तक चलने वाला है।

यह 13 जनवरी से 29 जनवरी तक चलेगा। 2023 मिस की मेजबानी भारत कर रहा है। इस मैच में चार का पोल बनाया गया है। पोल A, B, C, D में बांटा गया है। भारत पोल-D में है। भारत स्पेन को हराकर एक मैच जीत चुका है।

काफी मुश्किल रहा फैसला :-

अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ के सीईओ थिएरी वेल ने एक आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा, इन प्रतिष्ठित आयोजनों की मेजबानी के लिए एफआईएच को कई उत्कृष्ट बोलियां भी मिली थीं। इसलिए किसी एक को लेकर फैसला करना काफी मुश्किल था। चूंकि महासंघ का प्राथमिक लक्ष्य दुनियाभर में इस खेल को फैलाना है, जिसके लिए निश्चित रूप से निवेश की आवश्यकता होती है। इसी वजह से फैसले को लेते वक्त हर बोली की आय सृजन करने की क्षमता को भी देखा गया।

एकबार फिर भारत की भूमि पर मनाना चाहते हैं जश्न :-

हॉकी इंडिया (एचआई) के अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने इस उलपब्धि पर खुशी जताते हुए कहा,’हमें पुरूष हॉकी विश्वकप 2023 की मेजबानी मिलने की बहुत खुशी है। हमने जब बोली प्रक्रिया में हिस्सा लिया था तो हम अपने देश की स्वतंत्रता के 75 साल का जश्न और भी खास अंदाज में मनाना चाहते थे। हमने आखिरी बार विश्वकप भी 1975 में जीता था।

भारत कर रहा है हॉकी विश्व कप की मेजबानी

ऐसे में इस खेल का यह खास जश्न हम घरेलू जमीन पर एक बार फिर मना सकेंगे। साथ ही उन्होंने कहा, हमने 2018 विश्वकप की सफल मेजबानी भारत ने की थी और भरोसा है कि एक बार फिर हम इसी सफलता को दोहरा सकेंगे। दुनिया के शीर्ष देश हमारे यहां एक बार फिर खेलने आएंगे और पिछले अनुभव से हम और बेहतर आयोजन करने का प्रयास करेंगे।

वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें।

https://youtu.be/9iMQzaMtGI4

पिछला विश्व कप बेल्जियम ने जीता था:-

पिछले साल भारत में आयोजित टूर्नामेंट के दौरान सारे मुकाबले ओडिशा में खेले गए थे। फाइनल में बेल्जियम ने नीदरलैंड्स को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 से मात दी थी। उस वक्त भारतीय टीम छठी पोजिशन पर रही थी।

इसे भी पढ़ें।

भारत VS बांग्लादेश तीसरा वनडे: लगातार चौथे मुकाबले में बदली टीम इंडिया की ओपनिंग, शिखर- ईशान उतरे

ग्लोबल वार्मिंग के क्या कारण है?

भारत की 6 शास्त्रीय भाषाएं एवं उनके महत्व (Classical languages ​​of India and their importance)

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।
Khushboo Guptahttps://untoldtruth.in/
Hii I'm Khushboo Gupta and I'm from UP ,I'm Article writer and write articles on new technology, news, Business, Economy etc. It is amazing for me to share my knowledge through my content to help curious minds.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular