डेल्टा प्लस वेरिएंट पर सरकार ने जताई चिंता

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय डेल्टा प्लस वेरिएंटन एक चिंता जनक बीमारी है जो की फेफड़े की कोशिकाओं के चिपक जाता है और मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कम करता है

कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट ने सरकारों को और परेशान करदिया है अभी लोगो को कोरोना की दवा नहीं मिली उप्पेर से अब यहस्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में डेल्टा प्लस वेरियंट के44 केस है. केंद्र सरकार ने कहा है कि डेल्टा+ वेरिएंट राज्यों को बहुत सतर्क रहने की जरूरत है.

महाराष्ट्र- 23 ,मध्य प्रदेश- 6,केरल- 3,कर्नाटक- 2,कर्नाटक- 2,आंध्र प्रदेश- 1
,तमिलनाडु- 3,जम्मू- 1

कोरोना वायरस का डेल्टा वेरिएंट विश्व में इस वायरस के अन्य स्वरूपों की तुलना में बढ़ता जारा है कोरोना वायरस का डेल्टा वेरिएंट मरीजों का सबसे पहला मरीज भारत मिला भारत में अक्टूबर 2020में पहला मरीज मिला था .

व्हाइट हाउस के मुख्य चिकित्सा डॉ. एंथनी फाउची नेकहा कि कोरोना का संक्रामक वेरिएंट ‘डेल्टा’ महामारी है अमेरिका में सामने आने वाले कोरोना वायरस के नए मामलों में नए मामलों वेरिएंट के पाया गया था.

ब्रिटेन में डेल्टा वेरिएंट के मरीजों

ब्रिटेन में यह वेरिएंट काफी लोगो में फ़ैल चूका है अल्फा वेरिएंट से भी अधिक तेजी से लोगो में फैल रहा है 90 फीसदी से अधिक नए मामलों की डेल्टा वेरिएंट के है ब्रिटेन में गतिविधियों की मंजूरी नहीं है अमेरिका ने भी इससे चिंताजनक बतया है

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय डेल्टा प्लस वेरिएंटन एक चिंता जनक बीमारी है जो की फेफड़े की कोशिकाओं के चिपक जाता है और मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कम करता है

भारत के सिवा डेल्टा प्लस मरीज इन देशो में पाए गए
अमेरिका , ब्रिटेन, पुर्तगाल, स्विट्जरलैंड, जापान,पोलैंड,नेपाल

कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों ही टीके डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ लड़ने में मदत गार

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा भारतीय टीके कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों ही टीके डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ लड़ने में मदत गार है वह किस हद तक डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ एंटीबॉडी बनाते है यह भी इम्पोर्टैंट्स रखता है

Bindesh Yadavhttps://untoldtruth.in
CEO& Owner of Untold Truth "Stop worrying what you have been Loss,Start Focusing What You have been Gained"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

BEST DEALS