Health Tips : ये होते हैं मानसिक बीमारी के शुरुआती लक्षण

Table of Contents

मानसिक स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां दुनिया में करीब एक अरब लोगों को प्रभावित करती हैं याह इस्तेमाल करें समय बहुत परेशन कर दी है जब किसी चीज की टेंशन हमेश अपने दिमाग के लिए रहते हैं की आप सही डाइट नहीं ले रहे हैं साथ ही साथ आप योग नहीं कर रहे हैं अक्सर कोई बाहरी संकेत या चिकित्सा परीक्षण नहीं होते हैं, जो कि किए जा सकते हैं, इन स्थितियों पर अक्सर ध्यान नहीं दिया जाता है और इलाज नहीं किया जाता है इन सब बिमारियों को एक ही इलाज है कि आप अपने दिमाग को ज्यादा से ज्यादा अस्तै रखें और थोड़ा बहुत अवश्य घुमे ले

Health Tips : खाने के तुरंत बाद न करे ये गलतियां , सेहत को हो सकता है नुक्सान

ईश तरह के लक्षण दिखने पर आप डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें

बता दे की, हर मानसिक स्वास्थ्य विकार के संकेतों और लक्षणों को जानना महत्वपूर्ण नहीं है, इससे भी अधिक महत्वपूर्ण यह है कि हम उन लाल झंडों को पहचानते हैं जिनसे हम, या हमारे आसपास कोई व्यक्ति संघर्ष कर रहा है इस तरह के लक्षण दिखने प्रति आप अपने आहार प्रति सबसे पहले ध्यान दें और दसरी चिज एक स्थान पर ही हमेश ना रहे थोड़े बहुत अवश्या घुमने के लिए निकले ध्यान दे

1. भावनाओं में परिवर्तन

बता दे की, मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति का अनुभव करने वाले लोग उदासी, चिड़चिड़ापन, क्रोध, घबराहट, भय, या उन चीजों में रुचि की कमी का अनुभव कर सकते हैं ऐसे होने का सबसे बड़ा करन है कि आप अपने शरीर का ध्यान नहीं दे रहे हैं क्योंकि ऐसा है समय होता है जब आप सही आहार न लेने अगर आपको सही ऊर्जा नहीं मिलेगी तो आपको आईएसआई तारिके के लाख दिखेंगी वे पहले आनंद लेते थे। कुछ मामलों में, वे अपने मूड में महत्वपूर्ण उतार-चढ़ाव का अनुभव भी कर सकते हैं।

2. विचारों में परिवर्तन

केवल भावनाओं और मनोदशाओं से परे, मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति भी विचार प्रक्रिया को प्रभावित करती है ऐसे में आपका विचार भी आपके जीवन में कुछ कुछ निर्भार करता है लोगों को नकारात्मक सोच, अत्यधिक चिंता, अधिक सोचने और जुगाली करने, व्यस्तता, ध्यान केंद्रित करने और निर्णय लेने में कठिनाई का अनुभव हो सकता है अगर आपका दिनचार्य सही रहता है तो आपको इस तरह की दीकत है नहीं होती है याही करन है की लोगन को हर काम समय की समय करना चाहिए यह उनके अपने आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान को भी प्रभावित कर सकता है

3. पारस्परिक संबंधों में परिवर्तन

बता दे की, संकट का सामना करते समय, हम अक्सर अपने प्रियजनों से पीछे हटने की प्रवृत्ति रखते हैं लेकिन हमें ऐसा नहीं सोचना चाहिए हम अपनी डाइट को सही करना चाहिए और जीवनाचार्य को सही करना चाहिए अगर हम सही नियम से चलेंगे तू हमारा दिमाग कंसंट्रेट रहेगा अगर लगतार हम दोस्तों और परिवार के साथ, या काम पर सहकर्मियों के साथ समय बिताने से बच सकते हैं, आगर हमा आप मानसिक दीकत है उपयोग परशान है तो आप डॉक्टर से बचपन संपर्क करेन यह एक बिमारी का बिल अच्छा है

जो लोगों में समय कफी तेजी से हो रहे हैं अलगाव और लाचारी की भावना भी आ सकती है। साथ ही, अधिक क्रोध का प्रकोप हो सकता है जो रिश्तों की गुणवत्ता को प्रभावित करता है यह कफी खतरनाक बीमारी है जो आपके जीवन में कफी समस्या ला शक्ति है एक व्यक्ति को व्यक्तिगत या व्यावसायिक दोनों जगहों पर अधिक संघर्षों का अनुभव करना शुरू हो सकता है

Health Tips : आपको भी है भूलने की आदत तो डाइट में शमिल करे ये फूड्स दिमाग होगा तेज

सही खान- पाना ना लेने से भी हो सकती है ये सारी दीक्कत

अगर आप संकट का अनुभव करते हैं, या अपने आस-पास के किसी मित्र, परिवार के सदस्य या सहकर्मी को इनमें से कोई भी लक्षण प्रदर्शित करते हुए देखते हैं, तो डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें चिंताओं को साझा करें और खुली बातचीत करें। याद रखें कि दूसरे की मदद करना और मदद मांगना दोनों ही ताकत की निशानी हैं।

73 सालों में पहली बार मनाया जाएगा Supreme Court का स्थापना दिवस

शनिवार यानी आज 4 फरवरी को पहली बार भारत के सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) का स्थापना दिवस मनाया जाएगा।इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सिंगापुर के न्यायाधीश जस्टिस सुंदरेश मेनन को बुलाया गया है।

मशहूर प्लेबैक सिंगर वाणी जयराम का निधन, हाल ही में पद्म भूषण से किया गया था सम्मानित

मशहूर प्लेबैक सिंगर वाणी जयराम का निधन, हाल ही में पद्म भूषण से किया गया था सम्मानित
Harsh Pandeyhttps://UntoldTruth.in
Hii, I'm Harsh Pandey ....

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular