JNU की दीवारों पर लिखा- ब्राह्मणों भारत छोड़ो: बनियों के खिलाफ भी लिखे नारे

JNU की दीवारों पर लिखा- ब्राह्मणों भारत छोड़ो: बनियों के खिलाफ भी लिखे नारे जवाहरलाल नेहरू नेशनल यूनिवर्सिटी (JNU) के कैंपस की दीवारों पर ब्राह्मणों और बनियों के खिलाफ नारे लिखे मिले हैं। स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज की दीवारों पर लाल रंग से ब्राह्मणों कैंपस छोड़ो; ब्राह्मणों-बनियों हम तुम्हारे लिए आ रहे हैं, तुम्हें बख्शा नहीं जाएगा; शाखा लौट जाओ… जैसी धमकियां लिखी हैं।

JNU की उस महिला प्रोफेसर के केबिन के दरवाजे पर भी ‘शाखा लौट जाओ’ का नारा लिखा गया है, जिसे नवंबर 2019 में वामपंथियों ने 3 दिन के लिए हिरासत में रखा था। ये नारे 31 नवंबर की रात को लिखे गए हैं। इस घटना को लेकर अभी तक JNU प्रशासन की तरफ से कोई बयान जारी नहीं किया गया है।

ABVP और AISA में आरोप-प्रत्यारोप

शुरू इन नारों को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन (AISA) कम्युनिस्ट छात्रों पर निशाना साधा है। ABVP का कहना है कि वामपंथियों ने खुली सोच वाले प्रोफेसर्स को डराने के लिए उनके चैंबर्स पर धमकियां लिख दी हैं। ABVP ने JNU प्रशासन से मांग की है कि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। वहीं, AISA के सदस्य और JNU के पूर्व प्रेसिडेंट एन साईं बालाजी ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमें नहीं पता ABVP किस बारे में बात कर रही है। हमने ऐसा कुछ नहीं किया है। ये ABVP ने खुद किया होगा।

तस्वीरों में देखिए JNU में किस तरह के नारे लिखे गए हैं….

JNU में हुए विवादों से जुड़ी ये खबरें भी पढ़िए…

JNU में छात्रों के दो गुटों में चले लाठी-डंडे : बाहरी लोगों को भी कैंपस में बुलाया था, पुलिस बोली- सब कंट्रोल में है

दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवसिर्टी एक बार फिर सुर्खियों में है। यहां गुरुवार शाम छात्रों के दो गुटों में मकर मारपीट हुई। इस दौरान कैंपस में बाहरी लोग भी आए और दोनों गुटों में जमकर लाठी-डंडे चले। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और विवाद को शांत कराया।

कैंपस में घुसे बाहरी लोग

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूनिवसिर्टी के ताप्ती हॉस्टल में रहने वाले एक छात्र का दूसरे होस्टल के स्टूडेंट से किसी बात पर विवाद हो गया था। इस पर दोनों स्टूडेंट ने बाहरी लोगों को कैंपस में बुला लिया। इसके बाद दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई। कैंपस में हुए इस बवाल के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

किसी राजनीतिक पार्टी का हाथ नहीं: दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस ने कहा कि अभी तक हमें कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है। मामले पर विश्वविद्यालय की ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक यह छात्रों के गुटों के बीच का मामला है। इसमें किसी राजनीतिक पार्टी के शामिल होने की बात सामने नहीं आई है, अब स्थिति कंट्रोल में हैं।

भगवा JNU के पोस्टर लगाए, रामनवमी पर वामपंथियों से हुआ था ABVP का विवाद

अप्रैल में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) कैंपस के बाहर भगवा झंडे और भगवा JNU के पोस्टर लगे मिले। सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में झंडे उतरवा दिए। पुलिस का कहना है कि झंडे लगाने वालों की तलाश की जा रही है।

JNU में लगे भगवा झंडे, पुलिस ने हटाए: हिंदू सेना ने भगवा JNU के पोस्टर लगाए, रामनवमी पर वामपंथियों से हुआ था ABVP का विवाद

शुक्रवार सुबह दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) कैंपस के बाहर भगवा झंडे और भगवा JNU के पोस्टर लगे मिले। सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में झंडे उतरवा दिए। पुलिस का कहना है कि झंडे लगाने वालों की तलाश की जा रही है।

JNU में भगवा का अपमान हो रहा:

यादव हिंदू सेना के उपाध्यक्ष सुरजीत यादव ने कहा है कि JNU में विरोधियों द्वारा लगातार भगवा का अपमान किया जा रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि ये लोग सुधर जाएं, भगवा का अपना करने की कोशिश मत करें। हम सबका सम्मान करते हैं, प्रत्येक धर्म और विचार का सम्मान करते हैं, लेकिन जिस तरह से भगवा रंग का अपमान किया जा रहा है, उसे हिंदू सेना बर्दाश्त नहीं करेगी।

माहौल बिगाड़ने वालों पर कार्रवाई करेंगे: DSP

दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के DSP ने कहा कि आज सुबह पता चला है कि JNU के पास सड़क और आसपास के इलाकों में कुछ झंडे और बैनर लगाए गए हैं। हाल की घटनाओं को देखते हुए इन्हें तुरंत हटा दिया गया। उचित कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular