PET2022 : रेलवे स्टेशन और बस बस Addooeपर उमडी लाखो छतरों की भीड मचा हंगामा योगी सरकार के सारे दावे ध्वस्त

उत्तर प्रदेश अवर सेवा चयन आयोग की प्रारंभिक पात्रता परीक्षा- पीईटी 2022 में शामिल होने वाले लाखों अभ्यर्थियों के लिए अपर्याप्त परिवहन व्यवस्था के कारण प्रदेश के सभी रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर अफरातफरी मच गई पेट की परीक्षा होने की वजह से छत्र बस और रेलवे स्टेशन प्रति कफी ज्यादा मात्रा में दिखें जिस्की वजह से ट्रेन में जग कम पद गई

कई ट्रेनों पर छात्रों ने कब्जा कर लिया तो वहीं लाखों छात्र बस और ट्रेन नहीं मिलने के कारण सड़कों पर रात बिताने के लिए मजबूर हैं पेट परीक्षा के दौरन छत्रों को ट्रेन वी अशोक के लिए कफी लम्बे समय इंतजार करना पड़ा ट्रेन में जग न होने की वजह से छतों को कफी सामना करना पड़ा

रविवार को संपन्न हुई दो दिवसीय परीक्षा के लिए राज्यभर से 35 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था जिस्में उम्मेदवारों को परीक्षा केंद्र तक पूछने में कफी समस्या का सामना करना पड़ा परिक्षा खत्म होने के बाद से सोशल मीडिया ऐसे दृश्यों से भरा पड़ा है, जिसमें ट्रेन में चढ़ने की कोशिश कर रहे उम्मीदवारों से भरे प्लेटफॉर्म दिखाई दे रहे हैं बड़ी भेड़ के बिच कफी समयें देखने को मिली बसों के अंदर जगह खोजने की कोशिश कर रहे छात्रों से बस स्टैंड भी खचाखच भरे थे। कुछ को खिड़कियों से लटकते देखा जा सकता है।

इसी तरह के दृश्य हापुड़ रेलवे स्टेशन पर पत्रकारों द्वारा ली गईं तस्वीरों में भी दिखे। नाराज छात्रों का सवाल है कि परीक्षा केंद्र इतनी दूर क्यों रखे गए और अगर ऐसा जरूरी था, तो पर्याप्त परिवहन की व्यवस्था क्यों नहीं की गई। छात्रों का आरोप है कि योगी जी और मोदी जी की रैली के लिए पूरी ट्रेन का इंतेजाम हो जाता है, लेकिन छात्रों के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई।

यहां बता दें कि करीब 6.29 लाख से अधिक उम्मीदवार यानी कुल छात्रों में से लगभग 34 प्रतिशत ने पीईटी लिखित परीक्षा छोड़ दी, जो शनिवार और रविवार दो दिन आयोजित की गई थी और इसका कारण मुख्य रूप से परीक्षा केंद्रों तक पहुंचने के लिए अपर्याप्त परिवहन सुविधाएं थीं।

यूपी के परिवहन मंत्री दया शंकर सिंह ने रविवार को बरेली बस स्टैंड पर उम्मीदवारों से बात की और पर्याप्त बसें उपलब्ध कराने का वादा किया। कई विपक्षी नेताओं ने वीडियो और तस्वीरें ट्वीट करते हुए कहा है कि यूपी सरकार उम्मीदवारों के सामने आने वाली अराजकता और कठिनाइयों के लिए जिम्मेदार है।

इस बीच, सरकार ने दावा किया है कि सोशल मीडिया पर प्रसारित और विपक्षी नेताओं द्वारा ट्वीट किए जा रहे कई वीडियो फर्जी हैं और परीक्षार्थियों के लिए अतिरिक्त ट्रेनों और बसों की व्यवस्था की जा रही है। पीईटी एक क्वालीफाइंग परीक्षा है, जिसमें प्राप्त अंक उम्मीदवार को राज्य में ग्रुप सी सरकारी नौकरियों के लिए भविष्य की भर्ती परीक्षा में बैठने में सक्षम बनाता है।

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।
Harsh Pandeyhttps://UntoldTruth.in
Hii, I'm Harsh Pandey ....

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular