Russia Ukraine War: जंग के बीच रूस ने शुरू की Nuclear Drill, यूक्रेन पर लगाया डर्टी बम के इस्तेमाल का आरोप 1

संक्षिप्त में :-

रूस के पूर्वी हिस्से में मौजूद कामचात्का में यह मिसाइल परीक्षण किए गए। यह आर्कटिक सागर का क्षेत्र है। युद्धाभ्यास के दौरान रूस के नए और हाईटेक Tu-95 एयरक्राफ्ट भी इस्तेमाल किए गए।

विस्तार से :-

यूक्रेन युद्ध के बीच रूसी सेना के परमाणु अभ्‍यास से दुनिया सहमी हुई है। रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने ऐलान किया है कि वह जंग में परमाणु बम का इस्‍तेमाल नहीं करेंगे लेकिन इसके बाद भी लोगों को उनकी बातों पर भरोसा नहीं हो रहा है। इस बीच रूस के एक शीर्ष सैन्‍य विशेषज्ञ ने दावा किया है कि पुतिन ने न्‍यूक्लियर ड्रिल के दौरान ब्रिटेन और अमेरिका को धरती के नक्‍शे से मिटा देने का अभ्‍यास किया है। इस जोरदार परमाणु अभ्‍यास के दौरान रूस ने कई मिसाइलें दागीं और पश्चिमी देशों पर हमले का अभ्‍यास किया। यूक्रेन से जारी जंग के बीच बुधवार को रूस ने एटमी ड्रिल शुरू कर दी।

इस दौरान रूस ने बैलेस्टिक मिसाइल भी लॉन्च कीई। इसका फुटेज भी सरकारी टीवी ने जारी किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने इस पूरे ड्रिल को कंट्रोल रूम से देखा। इसे जवाबी हमले की तैयारी माना जा रहा है। रूस सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि राष्ट्रपति पुतिन की लीडरशिप में बैलेस्टिक और क्रूज मिसाइल लॉन्चिंग हुई।पुतिन ने खुद रूसी मिसाइलों की बारिश का निरीक्षण किया। रूस के नैशनल डिफेंस मैगजीन के एडिटर कर्नल इगोर कोरोटचेंको ने कहा कि इस दौरान यह अभ्‍यास किया गया कि अगर मास्‍को पर परमाणु हमला होता है तो ब्रिटेन और अमेरिका को कैसे तबाह कर दिया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि रूसी हमले में ब्रिटेन अटलांटिक समुद्र में डूब जाएगा। वहीं अमेरिका में रूसी हमले के बाद एक नौसेनिक जलडमरूमध्‍य बनेगा जिसका नाम कामरेड स्‍टालिन के नाम पर रखा जाएगा। बीच रणनीतिक प्रशिक्षण अभ्‍यास का यही मकसद था जिसे ऑपरेशन थंडर नाम दिया गया था। उन्‍होंने कहा, ‘रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू ने इसे साफ किया है। ये परीक्षण रूस पर दुश्‍मन के परमाणु हमले के जवाब में परमाणु मिसाइलों के एक भीषण पलटवार का अभ्‍यास करने के लिए किया गया था।

इसे भी पढ़ें।

यूक्रेन हमले में कितनी कीमत चुकाएगा रूस :-

रूस यूक्रेन युद्ध से, भारत के लिए सबसे बड़ा सबक क्या है?,क्या सीखना होगा भारत को?1:

रूस पर कौन पहले परमाणु मिसाइलों से हमला कर सकता है? अमेरिका और ब्रिटेन। कर्नल इगोर ने कहा कि उन्‍हें संदेह है कि फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रां रूस पर परमाणु हथियार से हमला करेंगे।’कर्नल इगोर ने कहा, ‘मैं फैसला नहीं सुना रहा हूं, लेकिन यह स्‍पष्‍ट है कि यह रूसी अभ्‍यास जोरदार पलटवार की स्थिति को ध्‍यान में रखकर किया गया था। इस संदर्भ में यह बहुत महत्‍वपूर्ण था कि हमें अपने मुख्‍य दुश्‍मनों को दिखाना और बताना कि क्‍या उनका इंतजार कर रहा है।

कोई समझौता नहीं होगा, इसका संकेत (अमेरिका और ब्रिटेन को) भेज दिया गया है। यह पूछे जाने पर कि क्‍या हमने ब्रिटेन और अमेरिका को तबाह करने का अभ्‍यास किया है, इस पर कर्नल इगोर ने कहा कि बिल्‍कुल सही। मैं जोर देकर कहूंगा कि यह रूस पर परमाणु हमले के जवाब में किया जाएगा।

मिसाइल परीक्षण के साथ हाईटेक एयरक्राफ्ट का भी किया गया इस्तेमाल :-

रूस के पूर्वी हिस्से में मौजूद कामचात्का में यह मिसाइल परीक्षण किए गए। यह आर्कटिक सागर का क्षेत्र है। युद्धाभ्यास के दौरान रूस के नए और हाईटेक Tu-95 एयरक्राफ्ट भी इस्तेमाल किए गए। क्रेमलिन का दावा है कि लॉन्च की गईं सभी मिसाइलों ने टारगेट पर निशाना साधा। रूस के पास इंटरकॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल मौजूद हैं। ये दुनिया के किसी भी हिस्से तक पहुंच सकती हैं। इसके अलावा उनके पास ऐसे फाइटर जेट्स और सबमरीन मौजूद हैं जो एटमी हमले कर सकते हैं।

जहां अमेरिका दावा कर रहा है कि रूस की फौज यूक्रेन पर एटमी हमला कर सकती है। वहीं, रूस का कहना है कि अमेरिका और नाटो उस पर परमाणु हमले की तैयारी कर रहे हैं। निक्केई एशिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को एटमी ड्रिल की जानकारी रूस ने अमेरिका को दे दी थी। इसमें कहा गया था कि बैलेस्टिक मिसाइल भी लॉन्च किए जाएंगे। पेंटागन ने भी इसकी पुष्टि की।

Watch video –

https://youtu.be/m1vXewhBHro

रूस और यूक्रेन के बीच पिछले 8 महीने से युद्ध जारी :-

रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने की राजनाथ से बात रूस और यूक्रेन के बीच पिछले 8 महीने से युद्ध जारी है। इस बीच रूस ने भारत से डर्टी-बम सहित कई मुद्दों को लेकर चिंता जाहिर की है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बुधवार को रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने फोन पर बातचीत की है। इस दौरान यूक्रने युद्ध से बिगड़ रहे हालात को लेकर चर्चा हुई। शोइगु ने राजनाथ को बताया कि खेरसॉन इलाके में यूक्रेन डर्टी बम का इस्तेमाल कर सकता है।

भारत ने संवाद के माध्यम से मुद्दे को हल करने की बात कही है।रूस ने अमेरिका, फ्रांस और यूके सहित कई देशों को डर्टी बम इस्तेमाल किए जाने को लेकर जानकारी दी है। हालांकि, इन देशों ने रूस के दावे को खारिज कर दिया है। तीनों देशों का कहना है कि रूस की तरफ से किया जा रहा दावा पूरी तरह से गलत है।

इसे भी पढ़ें।

रूस-यूक्रेन युद्ध में भारत की राजनीति तथा विदेशी नीति क्या है? 1 :-

क्या अमेरिका रूस – यूक्रेन युद्ध का असली कारण है ?आखिर कैसे अमेरिका ही है रूस और यूक्रेन युद्ध की वजह ?1:

रूस के लिए बड़ा झटका : 2100 Cr की बनाई रूस की कर्च स्ट्रेट ब्रिज पर युक्रेन ने किया बम से उड़ाया।

Private school में 2 बहनों के पढ़ने पर एक की फीस भरेगी राज्य सरकार

Private school में राज्य सरकार जल्द ही दो सगी बहनों के पढ़ने पर एक की फीस योगी सरकार भरेगी। शासन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा को लागू करने की पूरी तैयारी कर ली है। जल्द ही प्रदेश में स्मार्ट शिक्षा व्यवस्था लागू होने वाली है। इसके तहत जूनियर और माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को स्मार्ट क्लास के तहत एजुकेशन दी जाएगी।

अब नहीं रहेगा वेटिंग लिस्ट का झंझट, Indian railway ला रहा है नया AI Based System 2023

AI Module Rail Root पर विभिन्‍न तथ्‍यों की गणना करके ज्‍यादा से ज्यादा टिकट कंबिनेशन का ऑप्शन देता है। इससे वेटिंग लिस्‍ट में 5 से 6 फीसदी तक की कमी होती है। और टिकट कंबीनेशन की संख्या में बढ़ोतरी होती है।
Khushboo Guptahttps://untoldtruth.in/
Hii I'm Khushboo Gupta and I'm from UP ,I'm Article writer and write articles on new technology, news, Business, Economy etc. It is amazing for me to share my knowledge through my content to help curious minds.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

BEST DEALS

Most Popular