मध्यप्रदेश के जूनियर डॉक्टर अपनी 6 मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।

जूनियर डॉक्टरों ने इमरजेंसी सेवाएं भी अब बंद कर दी हैं। जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि सरकार द्वारा जो मांगे मानी गई हैं उसे लिखित में नहीं दिया गया जब तक स्ट्राइक जारी रहेगी जब तक वह लिखित में नहीं देते और जूनियर डॉक्टर इसके लिए उग्र आंदोलन कर सड़क पर भी उतरेंगे। जूनियर डॉक्टरों ने कोविड अस्पताल में भी अपनी सेवाएं बंद कर दी हैं। महाराजा यशवंतराव हॉस्पिटल के बाहर आज जूडा ने प्रदर्शन किया। पूरे प्रदेश में लगभग 2000 से जादा जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर हैं तथा…

Read More